किसान आंदोलन: शहीद जगदेव-कर्पूरी संदेश यात्रा का बिहपुर प्रखंड में दूसरा दिन

आज यात्रा के क्रम में बिक्रमपुर, मिल्की, कठौतिया, अरसंडी सहित कई गांवों में संवाद व सभा हुई.

By Anupam Ashish

बिहार: आज यात्रा के क्रम में बिक्रमपुर, मिल्की, कठौतिया, अरसंडी सहित कई गांवों में संवाद व सभा हुई.
अरसंडी में पेरियार ललई सिंह यादव को श्रद्धांजलि भी दी गई.
इस मौके पर सामाजिक न्याय आंदोलन(बिहार) के गौतम कुमार प्रीतम ने कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार के हरेक फैसले से 90 प्रतिशत बहुजन धन, धरती, राजपाठ व शिक्षा-रोजगार और संवैधानिक-लोकतांत्रिक अधिकारों से बेदखल हो रहा है. गुलामी, भूख व अधिकारहीनता के अंधेरे की तरफ धकेला जा रहा है. उसके हिस्से की सारी उपलब्धियां खत्म हो रही है. जबकि भारतीय समाज में धन-संपदा, नौकरी, शिक्षा एवं राजनीतिक प्रतिनिधित्व सभी मामलों-जीवन के हर क्षेत्र में मनुस्मृति आधारित वर्ण-जाति आधारित असमानता का श्रेणीक्रम आज भी पूरी तरह कायम है.

यह भी पढ़ें – ‘कानून व्यवस्था पर पूरा भरोसा है’: रिहाई के बाद बोले कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी
कर्पूरी संदेश यात्रा, kisan andoln bihar,kisan andolan,kisan news,
कर्पूरी संदेश यात्रा

इस मौके पर सामाजिक न्याय आंदोलन(बिहार) के अंजनी और बहुजन स्टूडेंट्स यूनियन(बिहार) के अनुपम आशीष ने कहा कि सरकारी उपक्रमों-क्षेत्रों के निजीकरण व बिकने से सरकारी नौकरी खत्म हो रही है और एससी, एसटी व ओबीसी का आरक्षण भी खत्म हो रहा है. निजी क्षेत्र में आरक्षण लागू नहीं है. निजीकरण अंतत: बहुजनों के ही खिलाफ है. दूसरी तरफ,सवर्ण आरक्षण के जरिए सवर्णों का वर्चस्व बढ़ रहा है तो एससी, एसटी व ओबीसी के आरक्षण की लूट हो रही है.

यह भी पढ़ें – उत्तराखंड आपदा: चमोली में ग्लेशियर टूटने से आई आपदा, 150 लोगों के लापता होने की आशंका
कर्पूरी संदेश यात्रा, kisan andoln bihar,kisan andolan,kisan news,
kisan andoln bihar

यात्रा में प्रमुख तौर पर शामिल हैं- निर्भय कुमार, अखिलेश शर्मा, परवेज आलम, इंदल शर्मा, फैय़ाज आलम, दीपक रविदास, अरूण महतो, इनोद पासवान, पंकज कुमार, तबरेज आलम, अनील शर्मा, अमर मंडल, सुनील यादव, अरविंद यादव, रूपक यादव, अंबेडकर भारती, पंकज पंडित लखन लाल यादव, सुबोध मंडल सहित कई एक।

यह भी पढ़ें –विचार विशेष : घोड़े की गर्दन पर किसानों की गिरफ्त !

Leave a Reply