अमित शाह के ABCD-NIZAM वाले बयान पर अखिलेश यादव ने कहा ‘क्ष त्र ज्ञ’, जानें पूरा विवाद

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सत्तारूढ़ बीजेपी और विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) में जुबानी जंग तेज हो गई है. गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सपा सुप्रीमो और पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि योगी आदित्यनाथ के शासन में कोई ‘बाहुबली’ दिखाई नहीं पड़ता है, बल्कि केवल ‘बजरंगबली’ दिखाई पड़ते हैं.

अलीगढ़ में अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, ”सपा के समय NIZAM का राज होता था. N- नसीमुद्दीन, I- इमरान मसूद, A- आजम खान, M- मुख़्तार अंसारी. मोदीजी और योगीजी की जोड़ी ने उत्तर प्रदेश को इस NIZAM राज से मुक्त कर कानून का शासन स्थापित करने का काम किया है.”

अमित शाह अपनी रैलियों में ABCD का भी जिक्र कर रहे हैं. उन्होंने पिछले दिनों सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उसकी ‘एबीसीडी’ का मतलब ‘अपराध-आतंक, भाई-भतीजावाद, करप्‍शन और दंगा है.’ बीजेपी ने पूरी ‘एबीसीडी’ पर पानी फेरने का काम किया है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता के इसी बयान पर अब अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने पलटवार किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ”जब उप्र व देश भुखमरी, बेरोज़गारी, बेकारी, महंगाई और बदइंतज़ामी के दौर से गुजर रहा है तब बीजेपी के नेता एबीसीडी व अक्षरों को जोड़कर बचकाने व अपरिपक्व शब्द बनाने में लगे हैं. इन बातों से न तो लोगों का पेट भरता है न घर चलता है. बाइस में जनता इनका क्ष त्र ज्ञ कर देगी. #भाजपा_ख़त्म.”

अमित शाह ने और क्या कुछ कहा?

उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए 2022 में होने वाले चुनाव पहले अमित शाह ((Amit Shah) ने जन विश्वास यात्रा को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘समाजवादी पार्टी की सरकार में जनता को ‘बाहुबली’ परेशान करते थे, हमारी बहू बेटियों को परेशान करते थे, जमीन छीन लेते थे. आज योगी जी (योगी आदित्यनाथ) के शासन में कोई बाहुबली दिखाई नहीं पड़ता, केवल बजरंगबली दिखाई पड़ते हैं.’’

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने दिखाया था कि सुशासन क्या होता है. शाह ने कहा, “बाबूजी (कल्याण सिंह को उनके समर्थक बाबू जी कहते हैं) ने राम जन्मभूमि के लिए अपनी कुर्सी का त्याग किया था.” शाह ने कहा, ”चुनाव नजदीक आने पर अखिलेश कल्याण सिंह को याद नहीं रखते, लेकिन जिन्ना को याद करते हैं.”

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, “आडवाणी (लालकृष्ण आडवाणी) जी ने राम जन्मभूमि के लिए रथ यात्रा निकाली और समाजवादी पार्टी ने (कारसेवकों पर) गोलियां चलाईं और उन पर लाठियां भी चलाईं. लेकिन, यह हमारे प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी जी थे, जिन्होंने राम मंदिर का भूमिपूजन किया.”

अखिलेश यादव को चुनौती देते हुए शाह ने कहा कि आप कितनी भी कोशिश कर लें, कुछ ही महीनों में भगवान राम का भव्य मंदिर बनेगा.

बसपा प्रमुख मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का नाम लिए बिना उन्होंने दावा किया कि बुआ, बबुआ या कांग्रेस नेता, उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार को सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता. उन्होंने दावा किया कि बीजेपी उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में 300 से अधिक सीटें हासिल करेगी.

Leave a Reply