जीतन राम मांझी की जीभ काटने पर 11 लाख का इनाम देने का ऐलान करने वाले बीजेपी नेता ने भुगता खामियाजा

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी (former Bihar CM Jitan Ram Manjhi) की जुबान काटने वाले को 11 लाख रुपये देने का ऐलान करने वाले बीजेपी नेता को पार्टी ने सस्पेंड कर दिया है. बीजेपी ने स्पष्ट कर दिया है कि किसी के लिए भी अमर्यादित भाषा बर्दाश्त नहीं की जा सकती. जीतन राम मांझी के ब्राह्मणों को लेकर आए बयान के बाद बीजेपी नेता गजेंद्र झा (BJP suspends Gajendra Jha) ने ऐलान किया था कि मांझी की जुबान काटने वाले को वे 11 लाख रुपये देंगे. पार्टी ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए उन्हें तत्काल निलंबित कर दिया है और 15 दिन के भीतर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है.

मधुबनी के BJP जिलाध्यक्ष शंकर झा ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के संदर्भ में गजेंद्र झा का दिया गया बयान अमर्यादित है. यह बयान अनअपेक्षित होने के कारण पार्टी के अनुशासन के सर्वथा विपरीत है. उन्होंने कहा कि ऐसी कार्यशैली बर्दाश्त नहीं की जाएगी. शंकर झा ने कहा कि पहले उन्हें निलंबित किया गया था. इसके बाद निष्काषित कर दिया गया है. जिले से इसकी सूचना प्रदेश को भी दे दी गई है, क्योंकि वे बिहार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य भी हैं तो प्रदेश स्तर से भी ये सूचना सब तक जल्द ही पहुंच जाएगी.

मांझी ने भी दिया स्पष्टीकरण

उधर एक जाति (ब्राह्मण) विशेष पर अभद्र टिप्पणी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने फिर माफी मांगी है. उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया है कि एक जाति के खिलाफ बोले गये मेरे शब्द स्लिप ऑफ टंग हो सकता है, जिसके लिए मैं खेद प्रकट करता हूं. वैसे मैं ब्राह्मणवाद के खिलाफ हूं, इस व्यवस्था का विरोध जारी रहेगा. बता दें कि बीजेपी नेता के इस विवादित बयान के बाद मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने भी पलटवार किया था. पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि मांझी के लिए लगातार अभद्र टिप्पणी की जा रही है. जुबान काटने की बात क्या दलितों का अपमान नहीं है? दानिश ने कहा कि मैं बिहार बीजेपी के आला नेताओं से कहना चाहता हूं कि वह अपने लोगों को समझाएं कि यह सब ठीक नहीं है.

लालू की बेटी भी भड़कीं

गजेंद्र झा के बयान को लेकर एक तरफ हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (HAM) ने पलटवार किया जिसके बाद लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्या (Rohini Acharya) भी इस मामले में कूद गयीं. रोहिणी ने मंगलवार को ट्वीट कर बीजेपी (BJP) पर हमला बोला है. रोहिणी आचार्या ने मंगलवार को ट्वीट कर लिखा- “बीजेपी वालों इतना नाटक क्यों? मांझी का साथ भी चाहिए और बयान पर रोना भी है? बिना मांझी के सरकार क्यों नहीं चलाते? स्वाभिमान मर गया क्या भाजपा वालों? हिम्मत है तो बिना मांझी के सरकार चला के दिखाओ?”

बता दें कि जीतन राम मांझी ने बीते शनिवार को भुइयां समाज के एक कार्यक्रम के दौरान ब्राह्मण समाज को लेकर आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया था. हालांकि बाद में उन्होंने सफाई दी थी. उन्होंने श्री राम को भी नकार दिया था, जिसका वीडियो वायरल होने के बाद बवाल मच गया है.

Leave a Reply