राम मंदिर के निर्माण से भाजपा को चुनाव में होगा फाएदा, जानिए क्या है चुनावी गणित

नई दिल्ली: अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण से उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को मदद मिलेगी, जी हाँ कुछ ऐसा ही कह रहे ABP-CVoter-IANS 5-स्टेट स्नैप पोल. आपको बता दें कि स्नैप पोल के मुताबिक, 63.3 फीसदी मतदाताओं को लगता है कि राम मंदिर के निर्माण से बीजेपी को मदद मिलेगी..जबकि 39.7 फीसदी ने कहा कि इससे भगवा पार्टी को कोई फायदा नहीं होगा.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में 2019 के संसदीय चुनावों में भाजपा को वोट देने वाले 76.1 प्रतिशत, कांग्रेस को वोट देने वाले 61 प्रतिशत, बहुजन को वोट देने वाले 38.2 प्रतिशत और समाजवादी पार्टी (सपा) को वोट देने वाले 39.3 प्रतिशत और मतदाताओं को लगता है कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण से 2022 की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनावों में भाजपा को मदद मिलेगी।

योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में वापसी करें

गौरालब है कि सर्वेक्षण के अनुसार, 2019 के संसदीय चुनावों में भाजपा को वोट देने वाले 71.1 प्रतिशत मतदाता चाहते हैं कि योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में वापसी करें। कांग्रेस को वोट देने वालों में, 48.2 फीसदी ने वोट दिया, उसके बाद बहुजन समाज पार्टी ने 21.9 फीसदी, समाजवादी पार्टी ने 16.9 फीसदी और अन्य ने 39.7 फीसदी वोट दिए।

कुल 47.2 फीसदी मतदाता योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल को पसंद करते हैं, जबकि 45.2 फीसदी का मानना ​​है कि सपा के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का कार्यकाल बेहतर रहा. स्नैप पोल ने यह भी बताया कि आगामी चुनावों में कानून और व्यवस्था सबसे बड़ा मुद्दा होगा, इसके बाद मुद्रास्फीति, (14.7 प्रतिशत), किसानों का विरोध (15.3 प्रतिशत), बेरोजगारी (16.7 प्रतिशत), राम मंदिर (14.1 प्रतिशत) होगा, सामाजिक सद्भाव (3.3 प्रतिशत) सड़क, बुनियादी ढांचा और पानी (3.4 प्रतिशत) और अन्य मुद्दों पर 2 प्रतिशत। सर्वेक्षण राज्य के सभी 403 विधानसभा क्षेत्रों में किया गया था, जिनमें से प्रत्येक में नमूना आकार 3,571 था।

Leave a Reply