दिल्ली सरकार की शराब नीति के खिलाफ भाजपा का चक्का जाम खत्म, हिरासत में लिए गए कई नेता

नई दिल्ली । आम आदमी पार्टी सरकार की नई शराब नीति के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी का सोमवार सुबह 9 बजे से जारी चक्का जाम 12 बजे के आसपास खत्म हो गया। इससे वाहन चालकों ने राहत की सांस ली है। लोगों को जाम में फंसता देख दिल्ली पुलिस ने 11 बजे के बाद सख्ती शुरू कर दी। इस दौरान विरोध कर रहे कई भाजपा नेताओं को हिरासत में भी लिया गया, जिन्हें कुछ देर में छोड़ भी दिया गया। दिल्ली पुलिस की सख्ती के बाद दिल्ली-यूपी गेट पर 12 बजे के आसपास यातायात सामान्य हो गया। इसके अलावा, अक्षरधाम मंदिर के पास दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे और एनएच-नौ पर भी यातायात सामान्य हो गया। इससे पहले कई जगहों पर रूट डायवर्जन भी रहा, लेकिन इससे ट्रैफिक पर कोई असर नहीं पड़ा, लोगों को परेशान होना ही पड़ा।

हिरासत में लिए गए कई भाजपा

दिल्ली में चक्का जाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने जाम खुलवाने की कड़ी में कई प्रदर्शनकारी भाजपा नेताओं को भी हिरासत में लिया गया। हालांकि, कुछ देर बाद इन्हें छोड़ भी दिया गया, इसकी भी खबर मिली है।

इससे पहले दिल्ली में शराब के नए खुल रहे ठेकों के विरोध में सोमवार सुबह से जारी भाजपा के प्रदर्शन के चलते कई जगहों पर भीषण जाम लग गया। चक्का जाम के तहत सुबह नौ बजे से ही भाजपा कार्यकर्ता सड़कों पर उतर गए। इसके चलते दिल्ली में 15 जगहों पर जाम लगा। इससे वाहन चालकों को बहुत दिक्कत पेश आई। आइटीओ चौराहे पर प्रदर्शन और चक्का जाम के कारण विकास मार्ग पर मध्य दिल्ली की ओर आने वाली लेन पर तकरीबन 5 किलोमीटर लंबा जाम लग गया। दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन का असर दिल्ली-यूपी सीमा पर भी नजर आया। कुछ ही देर में गाजियाबाद में यूपी गेट पर भी जाम के चलते वाहनों की लंबी कतार लग गई।

वहीं, सोमवार सुबह चौधरी ब्रह्म प्रकाश चौक पर भी भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने चक्का जाम किया, इस दौरान परेशान लोग बसों के ऊपर चढ़ गए। उधर, दिल्ली मे शराब की दुकानों को बंद करने की मांग को लेकर भाजपा द्वारा चक्का जाम के कारण एनएच-9 के अक्षरधाम के पास वाहनों की लंबी कतार  लग गई और इसके चलते नोएडा-दिल्ली रोड पर भी भीषण जाम लग गया।

Leave a Reply