DGCI का बड़ा फैसलाः कोवैक्सीन और कोविशील्ड के मिक्स डोज़ को दी मंजूरी

नई दिल्ली: भारत में COVID-19 के खिलाफ टीकाकरण कार्यक्रम में इस्तेमाल होने वाले दो मुख्य टीकों कोविशील्ड ( Corona Covishield) और कोवैक्सिन (Corona Covaxin) के मिश्रण पर एक अध्ययन को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने अपनी मंजूरी दे दी है. सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है. सूत्रों का कहना है कि यह अध्ययन और इसके क्लिनिकल ट्रायल वेल्लोर के क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज (CMC) में आयोजित किए जाएंगे.

ये भी पढ़ें :-नवजोत सिद्धू के ‘हमले’ जारी, सोनिया गांधी से मिले सीएम Amarinder Singh

केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (CDSCO) की एक विषय विशेषज्ञ समिति ने 29 जुलाई को अध्ययन करने की सिफारिश की थी. यह अध्ययन इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा किए गए एक अध्ययन से अलग होगा, जिसमें कहा गया था कि दो कोविड टीकों को मिलाने से बेहतर सुरक्षा और प्रतिरक्षाजनत्व (immunogenicity) परिणाम मिले. हालांकि, तब खुराक के मिश्रण ने काफी चिंता बढ़ा दी थी.

ICMR ने कहा कि इस अध्ययन ने सुझाव दिया कि एक एडेनोवायरस वेक्टर प्लेटफॉर्म-आधारित वैक्सीन के बाद एक निष्क्रिय संपूर्ण वायरस आधारित वैक्सीन न केवल सुरक्षित था, बल्कि बेहतर इम्युनोजेनेसिटी देने में सक्षम हुई.

ये भी पढ़ें :-PMSBY Scheme: बस 1 रुपये हर महीने खर्च करें और पाएं 2 लाख का कवर… ऐसे करें रजिस्ट्रेशन

ICMR के हेड ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड कम्युनिकेबल डिजीज, डॉ समीरन पांडा, ने कहा, “हमने स्टडी में विषम समूह और समजातीय समूह के साथ तुलना की, हमें बेहतर प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया (immune response) मिली, अगर किसी को कोविशील्ड पहले और कोवैक्सिन दूसरी बार मिले तो यह बेहतर immune response देता है. एडिनोवेक्टर और संपूर्ण वैरिएंट टीकों के संयोजन पर यह पहला अध्ययन है.”

Leave a Reply