सपा का पीयूष जैन से कोई रिश्ता है या नहीं? अखिलेश यादव ने दिया ये जवाब

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कानपुर दौरे से उत्तर प्रदेश की सियासत गरमा गई है. पीएम मोदी ने कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर मिली अकूत दौलत के बहाने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा है. हालांकि अब अखिलेश ने एक न्यूज़ चैनल से खास बातचीत में पीएम मोदी के हर आरोप का जवाब दिया है.

‘BJP को फंडिंग करता है पीयूष जैन’

अखिलेश यादव ने कहा कि पीयूष जैन के साथ सपा का कोई रिश्ता नहीं है बल्कि वह बीजेपी से जुड़ा हुआ आदमी है. उन्होंने कहा कि कानपुर का कारोबारी बीजेपी को फंडिंग करता था. साथ ही सपा प्रमुख अखिलेश ने दावा किया कि पीयूष जैन का समाजवादी इत्र से कोई लेना-देना नहीं है.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने यूपी और केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी और मुख्यमंत्री से बड़ा झूठा कोई नहीं है, प्रधानमंत्री से लेकर गृह मंत्री और मुख्यमंत्री सब झूठ बोल रहे हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी चुनाव से पहले सपा को बदनाम करना चाहती है.

‘सपा ने किया कानपुर मेट्रो का शिलान्यास’

पीएम मोदी पर पलटवार करते हुए अखिलेश ने कहा कि कन्नौज के इत्र को बदनाम ना करें, कन्नौज में कोई कारखाना बीजेपी ने नहीं लगाया है. साथ ही उन्होंने दावा किया कि कानपुर मेट्रो का शिलान्यास सपा ने किया है, मेरे साथ कानपुर में मंच पर वेंकैया नायडू और मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद थे. तस्वीरें झूठ नहीं बोलती हैं, सपा पर भरोसा ना हो तो प्रधानमंत्री, वेंकैया नायडू से पूछ सकते हैं.

सपा की ABCD वाले बयान पर अखिलेश ने गृह मंत्री अमित शाह पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सूबे के मुख्यमंत्री योगी ने कोई काम नहीं किया, अमित शाह उन्हें ABCD सिखाएं. सपा प्रमुख ने कहा कि हेल्थ इंडेक्स में यूपी पिछड़ गया है, मुख्यमंत्री ने यहां काम नहीं किया.

चुनाव आयोग से की ये अपील

आगामी विधान सभा चुनाव में सपा की जीत का दावा करते हुए उन्होंने कहा कि सपा की सरकार पूर्ण बहुमत से बनने जा रही है. साथ ही सपा सरकार बनने पर जिन लोगों की सांड और जानवरों की वजह से मौत हुई है, उनको 5 लाख का मुआवजा देंगे.

अखिलेश ने अपने चुनावी वादे को दोहराते हुए कहा कि साइकिल दुर्घटना से पीड़ित परिवार को भी 5 लाख का मुआवजा दिया जाएगा. साथ ही उन्होंने चुनाव आयोग से मांग करते हुए कहा कि भाजपा मानसिकता वाले अधिकारियों को चुनाव से पहले हटाया जाए, कई अधिकारी बीजेपी कार्यकर्ता बनकर काम कर रहे हैं, बिना ऐसे अधिकारियों को हटाए यूपी में निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है.

पीएम मोदी ने लगाए थे आरोप

पीएम मोदी ने अपने कानपुर दौर पर जनता को संबोधित करते हुए कहा कि बीते दिनों कानपुर में बक्से भर-भर के नोट मिले हैं. इसके बाद भी ये यही कहेंगे कि ये भी हमने ही किया है. असल में वर्ष 2017 से पहले कुछ लोगों ने भ्रष्टाचार का इत्र पूरे यूपी में छिड़क रखा था. लेकिन अब वो मुंह पर ताला लगाकर बैठे हैं और क्रेडिट लेने के लिए सामने नहीं आ रहे हैं.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यूपी में पहले जो सरकारें रहीं, उन्होंने माफियावाद का पेड़ इतना फैलाया कि उसकी छांव में सारे उद्योग-धंधे चौपट हो गए. अब योगी जी की सरकार, कानून व्यवस्था का राज वापस लाई है. इसलिए यूपी में अब निवेश भी बढ़ रहा है और अपराधी अपनी जमानत खुद रद्द करवा कर जेल जा रहे हैं.’

Leave a Reply