प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख को किया गिरफ्तार

प्रवर्तन निदेशालय ने सोमवार को देर रात महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख लगातार 12 घंटे तक चली पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। ये गिरफ्तारी कथित उगाही रैकेट से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में हुई है। वहीं अनिल देशमुख के वकील इंदरपाल सिंह ने कहा कि हमने जांच में पूरी तरह सहयोग किया है और ये मामला 4।5 करोड़ का है।

हालांकि उन्होंने कहा कि जब अनिल देशमुख को कोर्ट में पेश किया जाएगा, तो वे रिमांड का विरोध करेंगे। इससे पहले महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख सोमवार की दोपहर प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर पहुंचे। इसके बाद से धनशोधन के एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ सोमवार देर रात तक चलती रही।

अनिल देशमुख अपने वकील के साथ सोमवार की सुबह करीब 11 बजकर 40 मिनट पर दक्षिण मुंबई के बलार्ड एस्टेट इलाके में स्थित एजेंसी के कार्यालय में आए। अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसी महाराष्ट्र पुलिस प्रतिष्ठान में 100 करोड़ रुपये की कथित रिश्वत एवं वसूली मामले में की जा रही आपराधिक जांच के संबंध में धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के 71 वर्षीय नेता के बयान दर्ज कर रही है।

वसूली के आरोपों के कारण देशमुख को अप्रैल में इस्तीफा देना पड़ा था। ईडी के संयुक्त निदेशक सत्यव्रत कुमार कुछ अन्य अधिकारियों के साथ रात नौ बजे एजेंसी के कार्यालय में प्रवेश करते देखे गए।

Leave a Reply