‘छोटे किसान से लेकर जवाहर लाल नेहरू तक, पढ़िए- पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

Independence Day 2021 PM Modi Speech: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 75वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर पर लगातार आठवीं बार तिरंगा फहराया. इसके बाद देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने किसानों के मुद्दे, कोरोना महामारी, टीकाकरण की रफ्तार, सरकारी योजनाओं, नॉर्थ ईस्ट में कनेक्टिविटी, इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण समेत कई मुद्दों पर विचार रखें. यहां पढ़िए पीएम मोदी के भाषण की बड़ी बातें.

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने रविवार को 75वें स्वतंत्रता दिवस ( 75th Independence Day) पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7.30 बजे अपना संबोधन शुरू किया. देश के वीर जवानों को श्रद्धांजलि के साथ उन्होंने राष्ट्रपति महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, डा. बीआर अंबेडकर का नाम भी लिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विशेष तौर पर असम, महाराष्ट्र औऱ देश के अन्य क्षेत्र के महापुरुषों का नाम लिया और उन्हें नमन किया. साथ ही तीनों सेनाओं के सैनिकों को भी सैल्यूट किया.
  2. पीएम मोदी ने कोराना काल में लगातार सेवाएं देने वाले डॉक्टरों, चिकित्साकर्मियों, सफाई कर्मियों, वैक्सीन निर्माताओं और सभी हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्करों को भी उनकी सेवाओं के लिए धन्यवाद दिया. पीएम मोदी ने देश की युवा पीढ़ी का गौरव बढ़ाने वाले टोक्यो ओलंपिक के खिलाड़ियों का स्वागत किया.
  3. पीएम मोदी ने कहा कि परिवारों में बंटवारे के कारण किसानों की जमीन छोटी होती जा रही है, देश में 80 फीसदी किसान ऐसे हैं, जिनके पास दो हेक्टेयर से भी कम जमीन है. छोटे किसानों पर जितना ध्यान केंद्रित करना चाहिए था, वो रह गया है. कृषि सुधार इसी दिशा में कदम है. एमएसपी डेढ़ गुना करना, किसान क्रेडिट कार्ड, किसान उत्पादक संगठन जैसे प्रयास छोटे किसानों की ताकत बढ़ेंगे. छोटे इलाकों तक गोदाम बनाए जाएंगे. पीएम किसान सम्मान निधि योजना से 10 करोड़ परिवारों को मदद दी जा रही है.
  4. सरकार अपनी अलग-अलग योजनाओं के तहत जो चावल गरीबों को देती है, उसे फोर्टिफाई करेगी, गरीबों को पोषणयुक्त चावल देगी. राशन की दुकान पर मिलने वाला चावल हो, मिड डे मील में मिलने वाला चावल हो, 2024 तक हर योजना के माध्यम से मिलने वाला चावल फोर्टिफाई कर दिया जाएगा.
  5. हम आजादी का जश्न मनाते हैं, लेकिन बंटवारे का दर्द आज भी हिंदुस्तान के सीने को छलनी करता है. यह पिछली शताब्दी की सबसे बड़ी त्रासदी में से एक है. कल ही देश ने भावुक निर्णय लिया है. अब से 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के रूप में याद किया जाएगा.
  6. देश ने संकल्प लिया है कि आजादी के अमृत महोत्सव के 75 सप्ताह में 75 वंदेभारत ट्रेनें देश के हर कोने को आपस में जोड़ रही होंगी. आज जिस गति से देश में नए एयरपोर्ट्स का निर्माण हो रहा है, उड़ान योजना दूर-दराज के इलाकों को जोड़ रही है, वो भी अभूतपूर्व है.
  7. पीएम मोदी ने कहा, अमृत काल 25 वर्षों का है, लेकिन हमें अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए इंतजार नहीं करना है. हमारे पास गंवाने के लिए एक पल भी नहीं है, सही समय है. हमें एक नागरिक के नाते भी अपनेआपको भी बदलना होगा.
  8. पीएम मोदी ने भी सबका साथ सबका विकास के साथ सबका विश्वास के साथ सबका प्रयास का नारा दिया. उन्होंने कहा कि देश के नागरिकों यानी सबका प्रयास के बिना यह प्रयास अधूरा रहेगा.
  9. भारत को आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में होलिस्टिक अप्रोच अपनाने की भी जरूरत है. भारत आने वाले कुछ ही समय में प्रधानमंत्री गतिशक्ति- नेशनल मास्टर प्लान को लॉन्च करने जा रहा है.
  10. लद्दाख भी विकास की अपनी असीम संभावनाओं की तरफ आगे बढ़ चला है. एक तरफ लद्दाख, आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण होते देख रहा है तो वहीं दूसरी तरफ ‘सिंधु सेंट्रल यूनिवर्सिटी’ लद्दाख को उच्च शिक्षा का केंद्र भी बनाने जा रही है.

Leave a Reply