सोना खरीदने का अच्छा मौका! इन वजहों से जल्द बढ़ने वाली हैं Gold की कीमतें

नई दिल्ली. देश में शादियों का सीजन शुरू होने वाला है. इससे ठीक पहले मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर सोने की कीमत (Gold Price) 52099 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्च स्तर पर पहुंच गई है. स्पॉट गोल्ड भी 0.77 फीसदी की तेजी के साथ 1945 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ. एमसीएक्स पर पिछले सप्ताह सोने की कीमतों में करीब 0.90 फीसदी के वृद्धि देखने को मिली.

लाइव मिंट के मुताबिक, कमोडिटी बाजार के विशेषज्ञों का कहना है कि अमेरिकी फेडर रिजर्व की ओर से ब्याज दरें बढ़ाने के अनुमानों से हाल के सप्ताहों में सोना कंसॉलिडेशन जोन में पहुंच गया है. हालांकि, रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण सोने की कीमतों को समर्थन मिल रहा है. विशेषज्ञों का कहना है कि शादी के मौसम की शुरुआत होने के साथ कीमती धातु की मांग बढ़ेगी, जिससे इसकी कीमतों में तेजी देखने को मिल सकती है. निकट भविष्य में एमसीएक्स पर सोना 53,500 रुपये और मध्यम अवधि में यह 56,000 रुपये के स्तर पर पहुंच सकता है.

अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर रहेगी नजर

रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी रिसर्च) सुगंधा सचदेवा का कहना है कि सोने में निवेश करने वालों की नजर अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर है. फेडरल रिजर्व की मार्च में हुई बैठक से पता चलता है कि आने वाले महीनों में वह ब्याज दरों में आधा अंक की बढ़ोतरी कर सकता है. इसकी प्रमुख वजद अमेरिका में बढ़ती महंगाई है. हालांकि, मौद्रिक नीति में तेजी से सख्ती से अमेरिकी अर्थव्यवस्था को सबसे ज्यादा नुकसान होगा. इसके साथ ही यह वैश्विक अर्थव्यवस्था को पटरी से उतार सकता है. विकास को लेकर कोई भी नकारात्मक जोखिम से लंबी अवधि में सोने में गिरावट आ सकती है.

तनाव बढ़ने से सोने को मिलेगा समर्थन

सचदेवा का कहना है कि भू-राजनीतिक तनाव बढ़ने की आशंका है. अमेरिका और यूरोप रूस के खिलाफ नए प्रतिबंधों की योजना बना रहे हैं. इससे तनाव और बढ़ सकता है. वैश्विक महंगाई के दबाव में वृद्धि के रास्ते पर आने में लंबा समय लग सकता है. इन घटनाक्रमों से सुरक्षित निवेश के रूप में सोने में निवेश बढ़ सकता है. इसका असर कीमतों पर भी पड़ेगा, जिससे सोने के दाम और बढ़ सकते हैं.

इन वजहों से कीमतों में आएगी तेजी

आईआईएफएल सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता का कहना है कि अमेरिका के खुदरा बिक्री और महंगाई के आंकड़े सोने के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे. इसके अलावा, चीन में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. कोरोना का प्रसार और शंघाई में लगाया गया लॉकडाउन वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर नहीं हो सकती है क्योंकि चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है. हालांकि, भारत में शादियों के मौसम की शुरुआत से सोने की कीमतों में तेजी आने की उम्मीद है.

Leave a Reply