माल्या और नीरव मोदी जैसे भगोड़ों से हुई कितने करोड़ की वसूली, सरकार ने लोकसभा में बताया

बैंकों से कर्ज लेकर देश से फरार होने वाले भगोड़े कारोबारियों पर सरकार की सख्ती जारी है। भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या (Vijay Mallya) और हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) और मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) समेत अन्य भगोड़े कारोबारियों की संपत्तियां बेचकर बैंकों ने हजारों करोड़ रुपये की वसूली है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को कहा कि बैंकों ने विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे भगोड़ों की संपत्ति की बिक्री से 13,109.17 करोड़ रुपये की वसूली की है।

वित्त मंत्री ने विल्फुल डिफॉल्टरों से बैंकों की वसूली पर कहा कि प्रवर्तन निदेशालय की ओर से दी जानकारी के मुताबिक जुलाई 2021 तक विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की संपत्तियों की बिक्री करके 13,109.17 करोड़ रुपये की वसूली की गई है। उन्होंने कहा कि विजय माल्या और अन्य से जुड़ी संपत्तियों की बिक्री से हाल में (16 जुलाई 2021) 792 रुपये की वसूली की गई थी।

उन्होंने कहा, “सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने पिछले सात वित्त वर्षों में कुल मिलाकर करीब 5.49 लाख करोड़ रुपये की वसूली की है। इसलिए, ये लोग जो डिफॉल्टर हैं, जो देश छोड़कर भाग गए हैं, हमने उनके वसूल किए गए पैसे को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में डाल दिया है और इसलिए बैंक आज सुरक्षित हैं।”

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि जमाकर्ताओं का पैसा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में सुरक्षित है।

बहस के दौरान विपक्ष द्वारा उठाए गए महंगाई के मुद्दे पर सीतारमण ने कहा कि सरकार खाद्य तेल और अन्य आवश्यक वस्तुओं के दामों को नीचे लाने के लिए कदम उठा रही है।

Leave a Reply