SpaceX के रॉकेट से ISS के लिए रवाना हुए 4 अंतरिक्ष यात्री, Crew 3 मिशन को कमांड करेंगे भारतीय अमेरिकी राजा चरी

नई दिल्ली: SpaceX’s Crew-3 Astronaut Launch: अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा और स्पेसएक्स ने चार अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना किया है. खराब मौसम सहित कई कारणों के चलते काफी विलंब के बाद आखिरकार बुधवार को स्पेसएक्स का रॉकेट इन अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर रवाना हुआ है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने बताया कि बुधवार को अंतरिक्ष के लिए रवाना हुए चार लोगों में जर्मनी के मैथियस मौरर भी शामिल हैं, जिन्हें अंतरिक्ष जाने वाला 600वां व्यक्ति करार दिया गया है.

वह और नासा के अन्य तीन अंतरिक्ष यात्री लगभग 22 घंटे की उड़ान के बाद, गुरुवार शाम को पृथ्वी से करीब 250 मील (400 किमी) की दूरी पर अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुंचेंगे. इसे क्रू 3 नाम दिया गया है. इसमें नासा की ग्रेजुएशन क्लास के दो सदस्य हैं. इनमें 44 साल के भारतीय अमेरिकी राजा चरी हैं, जो अमेरिकी वायु सेना के लड़ाकू जेट के प्रशिक्षित पायलट हैं. वह मिशन कमांडर बनाए गए हैं. जबकि दूसरी सदस्य 34 साल की कायला बैरन हैं. जो अमेरिकी नौसेना सबमरीन अधिकारी और परमाणु इंजीनियर हैं.

टॉम मार्शबर्न भी हैं टीम का हिस्सा

तीसरे सदस्य टीम के नामित पायलट और सेकेंड इन कमांड अनुभवी अंतरिक्ष यात्री टॉम मार्शबर्न हैं. वह 61 साल के हैं और नासा के पूर्व फ्लाइट सर्जन रह चुके हैं. इनके अलावा यूरोपीय स्पेस एजेंसी के अंतरिक्ष यात्री मैथियस मौरर हैं. 51 साल के मौरर जर्मनी से हैं और मटीरियल साइंस इंजीनियर हैं. चरी, मौरर और बैरन लॉन्च के साथ अपनी पहली अंतरिक्ष उड़ान में अंतरिक्ष में जाने वाले 599वें, 600वें और 601वें इंसान बन गए हैं. चरी और बैरन भी नासा के आगामी आर्टेमिस मिशन के लिए चुने गए 18 अंतरिक्ष यात्रियों के पहले समूह में शामिल हैं, जिसका उद्देश्य अपोलो मिशन के करीब आधी सदी बाद इस दशक के अंत तक मनुष्यों को चंद्रमा पर वापस लाना है.

बूंदाबांदी के बीच कहा अलविदा

बुधवार रात बूंदाबांदी के बीच चार अंतरिक्ष यात्रियों ने अपने परिवार वालों को अलविदा कहा (Astronauts in ISS). मौसम वैज्ञानिकों ने मौसम के साफ होने का पूर्वानुमान लगाया था और उसमें सुधार आया भी. दो दिन पहले ही स्पेसएक्स अंतरिक्ष यान से चार अन्य अंतरिक्ष यात्रियों को वापस पृथ्वी पर लेकर लौटा था. बता दें नासा के अंतरिक्ष यात्री शेन किमबरॉ और मेगन मैकआर्थर, जापान के अकिहितो होशिदे और फ्रांस के थॉमस पेस्कवेट दो दिन पहले ही स्पेसएक्स के कैप्सूल से पृथ्वी पर लौटे थे. 200 दिन अंतरिक्ष केंद्र में बिताने के बाद ये वापस लौटे थे.

Leave a Reply