मध्य प्रदेश के खंडवा के क्षेत्रीय एनजीओ के विकास के लिए पिरामल फाउंडेशन द्वारा संयुक्त संगठन कार्यशाला का आयोजन

मध्य प्रदेश के आकांक्षी जिले की श्रेणी में शामिल खंडवा के क्षेत्रीय एनजीओ को पिरामल फाउंडेशन द्वारा संयुक्त संगठन कार्यशाला के मंच पर लाया गया।  क्षेत्रीय एनजीओ और उनके प्रतिनिधियों के विकास में पिरामल फाउंडेशन की यह पहल स्वयंसेवी संस्थाओं के लिए एक अच्छा अवसर बन कर उभरा है।  इस आयोजन की अध्यक्षता सीएमएचओ डीएस चौहान जी के द्वारा की गई। जिनका स्वागत पिरामल फाउंडेशन के क्लस्ट प्रोग्राम मैनेजर हरजिंदर सिंह के द्वारा पौधा प्रदान करके किया गया।

कार्यक्रम में डीपीसी सोलंकी के द्वारा पीरामल फाउंडेशन के द्वारा किए जा रहें कार्य की सराहना की गई, डायट ट्रेनर केशव परेशर के द्वारा सस्थाओं के छोटे छोटे कार्यों की सराहा गया।  इस बैठक का मुख्य उद्देश्य क्षेत्रीय समस्याओं से परिचित होना और क्षेत्रीय संस्थाओं के विकास की योजनाओं को पिरामल फाउंडेशन की टीम के द्वारा एक मंच पर लाना था।

कार्यशाला के दौरान एनजीओ के प्रतिनिधियों ने अपने अपने कार्यों का विस्तृत विवरण प्रस्तुत किया तथा उनके द्वारा कोविड -19 में जो कार्य किया गया था उसकी विस्तृत जानकारी प्रस्तुत की गई ।  पीरामल फाउंडेशन के द्वारा सभी संस्थाओं को एक मंच पर लाने के लिए मेरा योगदान नामक एप की जानकारी प्रोग्राम मैनेजर हरजिंदर सिंह के द्वारा दी गई। जिससे की सभी संस्थाएं एक मंच पर जुड़ सकें।  इस दौरान पीरामल वाटर के स्टेट हेड मृत्युंजय के द्वारा बताया गया कि एनजीओ को पीरामल फाउंडेशन के द्वारा किस प्रकार की सहायता दी जाएगी व इसकी विस्तृत जानकारी दी गई।  

पूरे कार्यक्रम में खंडवा के करीब 25 एनजीओ ने प्रतिभाग किया, जिसमें खंडवा के जनसंपर्क अधिकारी, डायट प्रिंसिपल मनोज,अशोक वानहेरे, उपस्थित रहें।

नीति आयोग के द्वारा सभी एनजीओ को सर्टिफिकेट प्रदान किया गया तथा साथ में अच्छा कार्य करने वाले एनजीओ को प्रोग्राम मैनेजर हरजिंदर सिंह के द्वारा सम्मानित भी किया गया।

कार्यक्रम का आभार जिला प्रोग्राम लीडर सुबोध मंडोलई के द्वारा प्रस्तुत किया गया।  सम्पूर्ण कार्यक्रम का सफलतापूर्वक आयोजन पिरामल ऐडमिन राहुल ढोले के द्वारा किया।  पिरामल टीम की तरफ से प्रदीप साह, सोमनाथ वाजे,लखन चावला,अंकित चौबे, नयन रामटेके, अक्षय सिंह,आकांक्षा यादव उपस्थित रहीं।

Leave a Reply