फिर हुई पत्रकार के साथ मारपीट, ट्रेंड हुआ #justiceforsantoshkumar

नई दिल्ली: एक बार फिर से जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करके एक पत्रकार के साथ मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया है, तूल इस कदर पकड़ लिया है कि ट्वीटर पर ट्रेंड करने लगा है #justiceforsantoshkumar। अब ट्वीट के बारे में बताने से पहले आपको इस पूरी घटना के बारे में जानकारी देते है ।

कारवां की एक रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी के महारजगंज मंडल अध्यक्ष यादवेंद्र प्रताप सिंह ने दलित पत्रकार और बहुजन इंडिया 24 न्यूज के ब्यूरो चीफ संतोष कुमार के साथ बेरहमी से मारपीट की है,इतना ही नहीं इस मारपीट में संतोष के दोनों पैरों को तोड़ा गया जिसके बाद संतोष को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ये भी पढ़ें :-किसान आंदोलन : 9 महीने बाद भी मोदी सरकार की बेरुखी बरकरार

यह मारपीट क्यों की गई यह भी बताते है, दरअसल गांव की महिलाओं के लिए आरक्षित सीटों पर हो रहे पंचायत चुनाव के लिए संतोष की पत्नी ने भी पर्चा भरा था और वह उम्मीदवार के रुप में उभर कर सामने आई…साथ ही यादवेंद्र की पत्नी भी उम्मीदवार थी..जिसके बाद संतोष की पत्नी को चुनाव ना लड़ने की दमकी दी गई..संतोष ने बताया कि25 मार्च 2021 को चुनाव लड़ने पर जान से मारने की धमकी दी थी…अब संतोष के ऐसा ना करने पर 26 जून को जब संतोष दोस्त के साथ कहीं से वापस आ रहा ता तो उस पर बीजेपी नेता सहित 14 लोगों ने हमला कर दिया, जिसमें से वह 10 को पहचानता भी है..

संतोष को इस कद्र मारा गया कि उसके दोनों पैरों की हड्डिया टूट गई..जिसके बाद उनको अस्पताल में भर्ती कराया गया है… इस घटना के बाद सीओ से मामले की शिकायत की तो उन्होने बीजेपी नेता का नाम एफआईआर से हटाने को कहा लेकिन संतोष ने ऐसा नहीं किया…संतोष का कहना है कि इस मारपीट के मामले में बीजेपी नेता पर मुकदमा संख्या 120\2021 में 147,392,325,323,504,506,427 और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अधिनियम,1989 के तहत संगीन अपराधिक धाराएं लगाई गई मगर बीजेपी नेता की गिरफ्तारी नहीं हुई।

ये भी पढ़ें :- अमृत महोत्सव के पोस्टरों से नेहरू की तस्वीर गायब, कांग्रेस हुई आग बबूला

अब इतना समय बीतने के बाद एक बार फिर संतोष के लिए न्याय को लेकर आवाज बुलंद हुई है..मीना कोटवाल ने हाल ही में संतोष से बातचीत की , मीना द मूकनायक की एडिटर है..जिसने ट्वीटर पर भी संतोष को न्याय दिलाने के लिए ट्वीट किया है..जो ट्रेंड पर है…जिसको लेकर प्रोफेसर दिलीप मंडल ने भी ट्वीट कर तत्काल जांच करने की मांग की है..साथ ही उन्होने इसे बेहद गंभीर घटना भी बताया है।

Leave a Reply