Bengal Election 21: कपिल सिब्बल ने मोदी जी के ‘अशोल पोरिबोर्तन’ की खोली पोल

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने मंगलवार को केंद्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि क्या भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एक ऐसा ही बदलाव लाएगी, जो 2014 के बाद किया गया था, जिसमें विमुद्रीकरण भी शामिल है।

ट्विटर पर लेते हुए, सिब्बल ने कहा: मोदीजी ने पश्चिम बंगाल में एक सार्वजनिक बैठक में कथित रूप से कहा: … बंगाल में ‘अशोल पोरिबोर्तन’ (वास्तविक परिवर्तन) लाएगी… “

कांग्रेस नेता ने अपने ट्वीट में 2014 के बाद से इनके प्रधानमंत्रित्व काल में लाए गए कुछ बदलावों को सूचीबद्ध किया, जैसे “नोटबंदी (विमुद्रीकरण), नोट बैंक की राजनीति, सरकारों को गिराना, विरोध करने वालों को सताया जाना, सपने बेचना, डेटा हेरफेर करना आदि।”

यह भी पढ़ें –Happy Birthday Bhagyashree: भाग्यश्री का 52 वां जन्मदिन, जानिए उनके जीवन के काले राज़

सोमवार को पश्चिम बंगाल में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए, पीएम मोदी ने ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर सिंडिकेट शासन और तोलाबाजी (जबरन वसूली) जारी रहती है तो राज्य प्रगति नहीं कर पाएगा।

जब तक पश्चिम बंगाल में पैसे की संस्कृति, सिंडिकेट का शासन और तोलाबाजी (जबरन वसूली) रहेगी यहां का विकास संभव नहीं है। बीजेपी सरकार का गठन सिर्फ राजनीतिक पोरिबोर्तन (राजनीतिक परिवर्तन) के लिए नहीं होना चाहिए, बल्कि बंगाल में ‘अशोल पोरिबोर्तन’ (वास्तविक परिवर्तन) के लिए होना चाहिए।

यह भी पढ़ें – Bengal Election 21: बंगाल चुनाव के लिए Mamata का नया नारा “#BanglaNijerMeyekeiChay”

kapil sibal
कपिल सिब्बल

उन्होंने कहा कि कमल उस अशोल पोरिबोर्तन को लाएगा, जिसका लक्ष्य युवा है। हमारा युवा इस ‘आशोल पोरीबोर्तन’ (वास्तविक परिवर्तन) की आशा के साथ जी रहा है, और इस प्रकार, हमें बंगाल में भाजपा की सरकार बनाने की आवश्यकता है।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में योजनाओं का मौद्रिक लाभ गरीबों तक कभी नहीं पहुंचा क्योंकि “टीएमसी राज्य के गरीबों, जरूरतमंदों और महिलाओं की परवाह नहीं करती है।”

इस साल विधानसभा चुनावों से पहले टीएमसी और बीजेपी के बीच जमकर आरोप-प्रत्यारोप का खेल जारे रहने की संभावना है।

पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों पर चुनाव इस साल अप्रैल-मई में होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें – Metro Man: हिन्दू और ईसाई मज़हब की लड़कियों को फंसाया जा रहा

Leave a Reply