कैराना में किसान महापंचायत आज! राकेश टिकैत भरेंगे हुंकार, विधानसभा चुनाव को लेकर बनेगी रणनीति

किसान आंदोलन की समाप्ति की घोषणा के बाद दिल्ली बार्डर पर जमे किसान अब अपने घर वापसी कर रहे हैं। इसी दौरान भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) अभी लौटने के मूड़ में नहीं हैं। उन्होंने बताया कि आज यानि कि 12 दिसंबर को यूपी के कैराना में धन्यवाद किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा। इस दौरान टिकैत ने कहा कि 15 दिसंबर तक सभी किसान धरना स्थल छोड़ देंगे। ऐसे में संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 15 जनवरी को होगी। इस यात्रा का उद्देश्य उन क्षेत्रों में विरोध प्रदर्शन समाप्त कराना है। बता दें कि यूपी का कैराना वही क्षेत्र है, जहां कभी पलायन का मुद्दा गरमाया था।

दरअसल, इससे पहले शनिवार को किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि वे महापंचायतों का आयोजन बंद नहीं करेंगे। हालांकि किसानों के मुद्दों पर चर्चा के लिए समय-समय पर महापंचायत का आयोजन होगा। वहीं, ज्यादातर किसान शनिवार को दिल्ली की सीमा को छोड़कर अपने घरों की ओर लौट गए हैं। उन्होंने बताया कि किसान 15 जनवरी को एक समीक्षा बैठक करेंगे।

आंदोलन स्थल को खाली करने में लगेगा 3 से 4 दिन का समय

वहीं, संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान में कहा कि यदि सरकार अपने वादे पूरे नहीं करती है, तो हम अपना आंदोलन फिर से शुरू कर सकते हैं। किसानों के मुताबिक, आंदोलन स्थल को पूरी तरह से खाली होने में आगामी 3 से 4 दिन का समय लगेगा। ऐसे में आंदोलन स्थल पर अंतिम दिन तक लंगर की सुविधा जारी रहेगी। इस कड़ी में बीते शनिवार को भी दिनभर लंगर के साथ मिठाइयां बांटने का दौर जारी रहा।

 सभी कैराना में उपस्थिति सुनिश्चित करें- राकेश टिकैत

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने शनिवार को किसानों से कैराना आने की अपील भी की है। उन्होंने कहा कि कैराना बाईपास पानीपत रोड कैराना में आयोजित किसान महापंचायत में मौजूद रहूंगा। इसके साथ ही आप सभी अपनी-अपनी मौजूदगी सुनिश्चित करें। इससे पहले राकेश टिकैत ने बताया कि किसान अपने-अपने घर जा रहे हैं, लेकिन हम 15 दिसंबर को घर जाएंगे, क्योंकि देश में हजारों धरने चल रहे हैं, हम पहले उन्हें समाप्त करवाएंगे और उन्हें घर वापस भेजेंगे।

Leave a Reply