नोएडा में बसाया जाएगा नया नोएडा, विदेशी स्ट्रक्चर से तैयार होगी हाई-फाई सिटी

नई दिल्ली : यूपी की हाई-फाई सिटी यानी कि नोएडा शहर में फिल्म सिटी के साथ-साथ एक और नया नाम जुड़ने जा रहा है. नोएडा शहर में ही एक नया नोएडा बनाने की तैयारियां शुरू हो गई है, इतना ही नहीं नए नोएडा को बचाने के लिए नोएडा प्राधिकरण ने शुरुआत भी कर दी है. इस शहर को बनाने के लिए एक एजेंसी का चुनाव किया गया है जो 4 महीनों में अपनी रिपोर्ट नोएडा प्राधिकरण को सौंपेगी.

क्या कहते है प्राधिकरण के लोग

नई नोएडा के निर्माण के बारे में जब नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि नोएडा में वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है. नए नोएडा को बचाने के लिए देश-विदेश के कई विकसित मॉडल का अध्ययन किया जा रहा है जिसमें गुजरात का धोलेरा मॉडल भी शामिल है. इस शहर के मास्टर प्लान को लेकर 4 महीने में एजेंसी अथॉरिटी को एक रिपोर्ट सौंपेगी.

नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ऋतु महेश्वरी ने बताया कि न्यू नोएडा में औद्योगिक विकास के लिए अत्याधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराया जाएगा.नोएडा अथॉरिटी के नक्शे में न्यू नोएडा का खाका खींचा गया है. इसके मुताबिक ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के दोनों तरफ न्यू नोएडा क्षेत्र का दायरा होगा. प्राधिकरण ने दूसरे तरफ के कुछ गांवों का रकबा भी चिन्हित किया है, इनमें कोट, नयाबासरी, फूलपुर, खंडारा, गिरिराजपुर, आनंदपुर और कुछ अन्य गांव शामिल हैं.

मास्टर प्लान तैयार कराने से पहले क्षेत्र में मौजूद 80 गांव की मौजूदा आबादी का भी हिसाब लिया जा रहा है. यूपी सरकार की परियोजना के तहत बुलंदशहर के 60 गांवों और नोएडा के 20 गांवों को मिलाकर न्यू नोएडा स्थापित किया जाएगा.

‘दादरी-नोएडा-गाजियाबाद निवेश क्षेत्र’

इसी साल जनवरी, 2021 में शासन ने बजट जारी कर दिया. इसको ‘दादरी-नोएडा-गाजियाबाद निवेश क्षेत्र’ नाम दिया गया. यह नया शहर करीब 20 हजार हेक्टेयर जमीन में बसेगा, इसे इंटेग्रेटेड सिटी के रूप में बसाया जाएगा.

नया नोएडा रेलवे से कनेक्ट होगा, यहां मेट्रो की सेवा भी पहुंचेगी. इसे जेवर एयरपोर्ट से भी जोड़ा जाएगा. साथ ही वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर, सस्टेनेबिलिटी, सोशल इन्फ्राट्रक्चर और एफिशिएंट गवर्नेंस शामिल है.प्राधिकरण ने न्यू नोएडा में आवासीय, इंडस्ट्री, फूड प्रोसेसिंग यूनिट, औद्योगिक इकाई और संस्थानों को स्थापित करने की योजना बनाई है. इसके अलावा न्यू नोएडा में SEZ, इंडस्ट्रियल स्टेट्स, एग्रो एंड फूड प्रोसेसिंग जोन, आईटी, आईटीएस, स्किल डेवलपमेंट सेंटर, नॉलेज हब, बॉयोटेक्नोलॉजी और इंटीग्रेटेड टॉउनशिप के मॉडल्स तैयार किए जा रहे हैं.

Leave a Reply