पुलिस कमिश्नर ने मांगी माफी, SI और 3 हेड कॉन्स्टेबल सस्पेंड

नई दिल्ली: इन दिनों राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने पैतृक गांव पहुंचे हुए हैं लेकिन उनके गांव जाने से ज्यादा वह किसी और वजह से सुर्खियों में हैं. दरअसल उनके काफिले की वजह से एक महिला की जान चली गई, जो इन दिनों सुर्ख़ियों का कारण बना हुआ है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के उत्तर प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को उनकी सुरक्षा के लिए तैनात पुलिसकर्मियों की अनदेखी ने एक बीमार महिला की जान ले ली।
दरअसल, इन दिनों राष्ट्रपति के कानपुर दौरे को लेकर शुक्रवार रात को पुलिसकर्मियों ने गंभीर रूप से बीमार महिला की कार को रोक लिया और उन्हें अस्पताल नहीं जाने दिया. इससे महिला की मौत हो गई। अब इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ने महिला के परिवार वालों से माफी मांगी है. इस घटना को लेकर कानपुर पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने दुख जताया है और ट्वीट कर माफी भी मांगी है.

उन्होंने लिखा, ‘IIA की अध्यक्षा बहन वन्दना मिश्रा जी के निधन के लिए कानपुर नगर पुलिस और व्यक्तिगत रूप से मैं क्षमा प्रार्थी हूं। भविष्य के लिए यह बड़ा सबक है। हम प्रण करते हैं कि हमारी रूट व्यवस्था ऐसी होगी कि न्यूनतम समय के लिए नागरिकों को रोका जाए ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृति न हो।’

असीम अरुण,कानपुर पुलिस आयुक्त

हालांकि पुलिस प्रशासन ने मामले में लापरवाही और निर्देश से अधिक समय तक ट्रैफिक रोकने को लेकर उप निरीक्षक सुशील कुमार और 3 हैड कांस्टेबलों को निलंबित कर दिया तथा मामले की जांच के आदेश दिए हैं. कानपुर के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त मामले की जांच करेंगे.

Leave a Reply