पहाड़ों पर बर्फबारी से मैदानी इलाकों में बढ़ी ठंड , तमिलनाडु में हो रही बारिश, बाढ़ जैसे हालात

नई दिल्‍ली. बंगाल की खाड़ी में बने निम्‍न दबाव के क्षेत्र का असर अब मौसम पर दिखाई देने लगा है. एक ओर जहां कई राज्‍यों में पिछले कई दिनों से बारिश हो रही है, वहीं पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है. तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई  में गुरुवार को दिनभर हुई बारिश के कारण कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं.

मौसम विभाग के मुताबिक पहाड़ों पर बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों में ठंड काफी ज्‍यादा हो गई है. सुबह के समय तापमान में भारी गिरावट दर्ज की जा रही है. दिल्‍ली, यूपी, बिहार समेत पूरे उत्‍तर भारत में हल्‍की ठिठुरन के साथ धूप की भी तपिश कम होने लगी है. दक्षिण भारत के कुछ राज्‍यों में जोरदार बारिश हो रही है. बारिश के कारण सबसे ज्‍यादा प्रभावित तमिलनाडु दिखाई पड़ रहा है.

स्काइमेट वेदर के मुताबिक, दक्षिण पूर्व और उससे सटे दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी में अभी भी निम्‍न दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण औसत समुद्र तल से 5.8 किमी तक फैला हुआ है. मौसम विभाग के मुताबिक 13 नवंबर के आसपास दक्षिण अंडमान सागर और उसके आसपास एक नया निम्‍न दबाव का क्षेत्र बन रहा है, जिसके कारण कई और राज्‍यों में भी बारिश के कारण सर्द हवाएं चलेंगी.

स्काइमेट वेदर से मिली जानकारी के मुताबिक बादलों की चाल को देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है कि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, दक्षिण कर्नाटक और रायलसीमा के कई हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है. वहीं अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश होगी. वहीं, तेलंगाना, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक और लक्षद्वीप में हल्की बारिश हो सकती है.

Leave a Reply