उत्तराखंड चुनाव 2022- इसी सीट पर क्यों है भाजपा की नजर, जानें इसके पीछे की बड़ी वजह

उत्तराखंड॥ विधानसभा इलेक्शन 2022 में अब अधिक समय नहीं है। ऐसे में सियासी दल भी जोर-शोर से चुनावी तैयारियों में जुट गए हैं। सियासी पार्टियां उत्तराखंड के दो महत्वपूर्ण हिस्से- गढ़वाल और कुमाऊं को साधने में लगे हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी इस बार गढ़वाल के मुकाबले कुमाऊं पर अधिक फोकस करती हुई नजर आ रही है।

भारतीय जनता पार्टी का गढ़वाल से ज्यादा कुमाऊं पर फोकस

भले ही राज्य में सियासी लिहाज से गढ़वाल क्षेत्र का दबदबा है, इसके बावजूद भी इस बार भारतीय जनता पार्टी की चुनावी रणनीति में एक आश्चर्यजनक बात देखने को मिल रही है और वो है भाजपा का कुमाऊं पर फोकस। उत्तराखंड में बीजेपी का पूरा फोकस कुमाऊं मण्डल पर है।

आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी सरकार के सीएम पुष्कर सिंह धामी भी जनपद उधमसिंह नगर से आते हैं, जो कुमाऊं में आता है। मुख्यमंत्री धामी मूल रूप से कुमाऊं के निवासी हैं। केंद्रीय राज्य रक्षा मंत्री अजय भट्ट भी कुमाऊं से ही हैं। इसके अलावा उत्तराखंड सरकार में मंत्रियों की बात करें तो 11 की कैबिनेट में से 5 कैबिनेट मंत्री- बंशीधर भगत, रेखा आर्य, बिशन सिंह चुफाल, अरविंद पांडे कुमाऊं और सीएम धामी कुमाऊं से ही हैं। इन सभी समीकरणों को देखकर कह सकते हैं कि भारतीय जनता पार्टी की रणनीति में कुमाऊं केंद्र में है।

Leave a Reply