आखिर पकड़ा गया विराट कोहली का झूठ? वनडे कप्तानी विवाद पर BCCI ने फिर किया पलटवार

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से बड़ा बवाल मचा हुआ है. भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली और बीसीसीआई के बीच तभी से विवाद चल रहा है. दरअसल कुछ ही समय पहले बीसीसीआई ने विराट को वनडे टीम की कप्तानी से हटा दिया था. इसके बाद से लगातार विराट और बीसीसीआई एक दूसरे पर आरोप लगाते आ रहे हैं.

बता दें कि बीसीसीआई ने विराट को कप्तानी से हटाए जाने के बाद कहा कि सेलेक्टर्स और खुद चीफ सौरव गांगुली ने विराट को उस वक्त रोका था जब उन्होंने टी20 कप्तानी छोड़ने का मन बना लिया. लेकिन हाल ही में विराट ने इसका एकदम उलटा जवाब देते हुए कहा कि ऐसा कुछ नहीं हुआ और उन्हें टी20 कप्तानी छोड़ने से रोका नहीं गया. लेकिन अब बीसीआई की तरफ से एक बार फिर विराट कोहली पर पलटवार किया है.

बीसीसीआई का विराट पर पलटवार

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रवानगी से पहले के विराट कोहली के बयान का खंडन करते हुए चयन समिति के प्रमुख चेतन शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि इस चैम्पियन बल्लेबाज को बीसीसीआई में सभी ने टी20 कप्तान बने रहने के लिए कहा था. कोहली के टी20 कप्तानी छोड़ने के बाद बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा था कि बोर्ड ने कोहली से अपने फैसले पर पुनर्विचार के लिए कहा था.

कोहली ने किया था खंडन

कोहली ने बाद में गांगुली के बयान का खंडन करते हुए कहा था कि उनकी बोर्ड अध्यक्ष से कोई बात नहीं हुई थी और उन्हें वनडे कप्तानी से हटाए जाने के बारे में दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टेस्ट टीम के चयन के लिए चयन समिति की बैठक से डेढ घंटा पहले बताया गया था. शर्मा ने शुक्रवार को कहा, ‘जब बैठक शुरू हुई तो यह सभी के लिए हैरानी की बात थी. टी20 विश्व कप शुरू होने से पहले इस तरह की बात सुनने पर क्या प्रतिक्रिया होगी. बैठक में मौजूद सभी लोगों ने उनसे कहा कि टी20 कप्तानी छोड़ने के फैसले पर पुनर्विचार करें. इसके बारे में विश्व कप के बाद बात की जा सकती है.’

उन्होंने कहा, ‘सभी चयनकर्ताओं को उस समय लगा कि इससे विश्व कप में प्रदर्शन पर असर पड़ सकता है. विराट से कहा गया कि भारतीय क्रिकेट के लिए कप्तान बने रहिए. बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह समेत बैठक में मौजूद सभी लोगों ने यह कहा.’ उन्होंने कहा, ‘चयन समिति के सदस्य , बोर्ड अधिकारी सभी वहां थे. सभी ने बोला था. टी20 विश्व कप करीब था और हम नहीं चाहते थे कि इस फैसले का टीम पर असर पड़े. उन्होंने फैसला लिया था और हम उसका सम्मान करते है. लेकिन हम सभी ने उनसे इस पर विचार करने के लिए कहा था.’

Leave a Reply